Naari Shakti

0
418
भारत एक ऐसा देश है जिसकी संस्कृति में नारी शक्ति की पूजा की जाती है | धन के लिए माँ लक्ष्मी, ज्ञान के लिए माँ सरस्वती, और शक्ति के लिए माँ दुर्गा जी का आवाहन किया जाता है| सदियों पुरानी भारतीय परंपरा जहां नारी की पूजा होती है , वही भ्रूण हत्या और बलात्कार जैसे अपराध भी हो रहे हैं |
शास्त्रों में लिखा है “यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता” अर्थात जहाँ नारियों की पूजा की जाती है वहां देवता निवास करते हैं, किन्तु बेटियों की जिंदगी कोख में ही छीनी जा रही है। बेटियों की दिनोदिन कम होती संख्या हमारे देश के लिये एक गंभीर समस्या है |
जीवन की हर समस्या के लिए देवी को पुजनेवाले भारतीय समाज में आज भी कुछ ऐसी मानसिकता के लोग मौजूद हैं जो बेटी के जन्म को अभिशाप मानता है और कही ना कही इसका कारण दहेज और यह सोच है कि वंश को आगे बढानेवाला बेटा होता है |
लेकिन दहेज़ के डर से भ्रूण हत्या जैसा कार्य कहाँ तक उचित है?
अब समय वह नहीं रहा जिसमें नारी को अबला की दृष्टि से देखा जाता था |
आज महिलाएं किसी भी मामले में किसी से पीछे नहीं है | जीवन के हर क्षेत्र में वह अपना उत्तरदायित्व बखूबी निभा रही है | ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है जहा महिलाओं ने अपनी छाप ना छोड़ी हो | कल्पना चावला से सुनिता विलिम्स तक, पुर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से देश की वर्तमान रक्षामंत्री निर्मला सितारमन तक ऐसीे ही कुछ महिलाएं हमारे लिए उदाहरण हैं जो हमें भविष्य में प्रेरित करती रहेगी | शिक्षा हो या खेलकुद हर जगह महिला पुरुषों से बराबरी कर रही है |
हम आशा करते हैं कि महिलाओं को और बेटियों को मनोबल मिले और वो ऐसे ही आगे बढ़ती रहे |